Discovery Way of Life

सिकंदर


सिकंदर मरा जिस् नगर से उसकी अर्थी निकाली गई । वहा के लोगो ने देखा की अर्थी मे से सिकंदर के हाथ बाहर रखे गये थे । सबने पुछा तो पता चला की सिकंदर ने मरनेसे पहेले कहा था मेरे हाथ बाहर रखना ताकि लोगो को पता चले के में भी खली हाथ जा रहा हु ।


क्या कोइ एसी संपदा नहीं हे जिसे मृत्यु मिटा न सके

किसी भी सम्पदा को मृत्यु की कसोटी पर रखना और देखना ये सोना हे या मिटी

जो मृत्यु के बाद बचता हे वो तुम हो

2 comments:

RAJNISH PARIHAR ने कहा…

बहुत ही अच्छी शिक्षा देती कहानी है ये...!सभी को खाली हाथ ही जाना है..सच है..

MAYUR ने कहा…

क्या लेकर आया था क्या लेकर जायेगा

अच्छा लिखा है आपने , साथ ही आपका चिटठा भी खूबसूरत है । यूँ ही लिखते रहे ।

हमें भी उर्जा मिलेगी ,

धन्यवाद
मयूरअपनी अपनी डगर

समर्थक


<!--Can't find substitution for tag [blog.pagetitle]-->